Friday, April 28, 2017

Narendra Modi - Hindi - 2017 - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी



 नरेन्द्र मोदी

2017



26 February 2017

http://www.pmindia.gov.in/hi/

मन की बात: डिजिटल ट्रांजेक्शन बढ़ रहा है, मैं इसे शुभ संकेत मानता हूं- मोदी
By: एबीपी न्यूज़  Sunday, 26 February 2017
http://abpnews.abplive.in/india-news/pm-narendra-modi-is-hosting-mann-ki-baat-today-566495

http://www.patrika.com/feature/dus-ka-dum-landing-page/10-unknown-facts-about-pm-narendra-modi-1000663/

हिन्दू चाहता है कि नरेन्द्र मोदी के शासन काल में ही बने राम मंदिर'
Published 26-Feb-2017
http://hindi.eenaduindia.com/State/UttarPradesh/2017/02/26180447/mahant-gopal-das-on-ram-mandir.vpf

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से बदल रहा है;- कृष्णपाल गुर्जर
http://www.abtaknews.com/2017/02/blog-post_828.html



April 2017


नागपुर, महाराष्ट्र में विभिन्न सरकारी परियोजनाओं और योजनाओं के शुभारंभ में प्रधानमंत्री का संबोधन
14 अप्रैल, 2017


क्‍या 2022 जब आजादी के 75 साल हो रहे है। आज हम 2017 में खड़े हैं। पांच साल का समय हमारे पास हैं। सवा सौ करोड़ देशवासी अगर संकल्‍प करे कि जिन महापुरूषों ने आजादी के लिए जीवन लगा दिया, उनके सपनों का भारत बनाने के लिए मेरी तरफ से इतना योगदान होगा। मैं भी कुछ करके रहूंगा, और संकल्‍प करके रहूंगा और सही दिशा में करके रहूंगा, मैं नहीं मानता हूं कि 2022 आते-आते देश विश्‍व के सामने खड़े होने की ताकत के साथ खड़ा नहीं होगा, मुझे कोई आशंका नहीं है। और उसमें एक सपना है हमारा 2022 जब आजादी के 75 साल हो तब मेरे देश के गरीब से गरीब का अपना घर हो। इस देश का कोई गरीब ऐसा न हो, जिसको अपना रहने के लिए अपना घर न हो, अपनी छत न हो। और घर भी ऐसा हो, जिसमें बिजली हो, पानी हो, चूल्‍हा हो, गैस का चूल्‍हा हो, नजदीक में बच्‍चों के लिए स्‍कूल हो, बुजुर्गों के लिए नजदीक में अस्‍पताल हो ऐसा हिन्‍दुस्‍तान क्‍यों नहीं देख सकते। क्या सवा सौ देशवासी मिल करके हमारे देश के गरीब के आंसू नहीं पोंछ सकते? भीम राव अम्‍बेडकर जी ने जिन सपनों को ले करके संविधान में रचना की है, उन संविधान को जी करके दिखाने का अवसर आया है। हम 2022 के लिए संकल्‍प करे, कुछ कर-गुजरने का इरादा लेकर चल पड़े। मैं मानता हूं कि यह सपना पूरा होगा।
Source

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर प्रधानमंत्री का संदेश
24 अप्रैल, 2017
     
प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में कहा:
”राष्‍ट्रीय पंचायती राज दिवस पर मैं पूरे भारत में पंचायती राज संस्‍थानों के जरिये लोगों की सेवा करने वाले परिश्रमी लोगों को सलाम करता हूं। पंचायत ग्रामीण भारत में लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने का एक प्रभावी तरीका है। भारत के बदलाव में वे महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। हमारी सरकार समग्र प्रगति और जमीनी स्‍तर की भागीदारी के जरिये ‘ग्राम उदय से भारत उदय’ को वास्‍तविक बनाने के लिए काम कर रही है।”
Source



Updated 30 April 2017, 26 Feb 2017


No comments:

Post a Comment